truck-india
Commercial vehicles NEWS Covid-19 Update

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ ट्रांसपोटर्स ने किया विरोध प्रदर्शन

पहले से कोविड 19 की मार झेल रहे ट्रांसपोटरों की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। पहले सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए कम पैसेंजरों को बिठाने के आदेश के बाद अब लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी ने ट्रांसपोटरों की कमर तोड़ कर रख दी है।

भारत के ट्रक ड्राइवर्स इस मुश्किल समय में आपकी सहायता मांग रहे हैं। आज ही अपना योगदान दें: https://bit.ly/2RweeKH

इन बढ़ती कीमतों के खिलाफ ट्रांसपोटरों ने दिल्ली में कौमी एकता ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन के अधीन “थाली” बजाकर इसका विरोध प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण सभी आवश्यक उत्पाद महंगे हो रहे हैं और उनका कारोबार भी ठप होने की कगार पर पहुंच गया है।

इसके लिए कौमी एकता टैक्सी ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने दिल्ली सरकार को एक पत्र भी लिखा है और पेट्रोल और डीजल की कीमतों को ‘सामान्य सीमा’ तक कम करने का अनुरोध किया है।

ट्रांसपोटरों का कहना है कि लॉकडाउन में काम बंद रहने से वो पहले से हीं आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहे हैं, ऐसे में रोजाना बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने उनकी मुश्किलें और बढ़ा दी है। अगर ऐसा हीं रहा तो वो चाह कर भी अपना व्यव्साय नहीं चला पाएंगे।

उनका कहना है कि जिस प्रकार दिल्ली सरकार ने शराब पर विशेष टैक्स लगाए थे, लेकिन कुछ दिन बाद वापस ले लिया। उसी प्रकार पेट्रोल और डीजल पर लगाए गए विशेष टैक्स को भी वापस लिया जाना चाहिए, जिससे की इसकी कीमतों में कुछ कमी आ सके और उन्हें इस विषम परिस्थिति के दौर में कुछ राहत मिल सके।

पिछले 21 दिनों से लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है और रविवार तक पेट्रोल 80.38 और डीजल 80.40 रुपये प्रति लीटर बिक रहे थे, जरुरी है कि इस पर लगाम लगाई जाए।

अब RTO फॉर्म्स की सभी जानकारी पाएं BabaTrucks पर!