truck-india
Commercial vehicles NEWS Commercial Vehicle Insurance

व्हीकल इंश्योरेंस पॉलिसी को लेकर आई बड़ी खबर, जान लें क्या कहा जीआईसी ने

हाल ही में सड़क और परविहन मंत्रालय ने लोगों को अपने डॉक्यूमेंट्स की वैद्धता को लेकर एक समयसीमा का जिक्र किया था, जिसके तहत वाहन चालकों को थोड़ी राहत दी गई थी। लेकिन अब जेनरल इंश्योरेंस कांउसिल (जीआईसी) ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लोगों की मुश्किलों को थोड़ा बढ़ा दिया है।

RTO ऑफिस से सम्बंधित सभी जानकारी पाने के लिए क्लिक करें!

जीआईसी ने साफ करते हुए कहा है कि सड़क परिवहन मंत्रालय ने वाहन संबंधी डॉक्युमेंट्स की अवधि फरवरी 2020 से बढ़ा कर 31 दिसंबर 2020 कर दिया था, लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि इन डॉक्युमेंट्स में केवल ड्राईविंग लाइसेंस, परमिट, फिटनेस सर्टिफिकेट और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट जैसी चीजें शामिल है, जबकि इंश्योरेंस को इससे अलग रखा गया है, इसलिए इंश्योरेंस समय पर करवाना अनिवार्य होगा।

इंश्योरेंस कंपनी की प्रतिनिधी जीआईसी की ये बात इसलिए भी जरूरी है क्योंकि वाहन चालकों के बीच ये गलतफहमी बढ़ गई थी कि आखिर उन्हें किन डॉक्युमेंट्स पर छूट दी गई है।

लेकिन जीआईसी की इस खुलासे के बाद कई लोगों की मुश्किलें आसान हो जाएगी और वो समय पर अपना इंश्योरेंस पेपर रिन्यु करवा पाएंगे और जुर्माने से बच पाएंगे।

आपको बता दें कि 24 अगस्त 2020 को केंद्रिय सड़क परिवहन मंत्रालय की तरफ से सभी राज्यों को ये एडवाइजरी जारी की गई थी कि वो इन डॉक्यूमेंट्स की वैलिडिटी 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दें लेकिन इसमें इंश्योरेंस पेपर को लेकर कुछ साफ नहीं बताया गया था।

इसलिए अब जीआई की तरफ से सभी पॉलिसी धारकों से ये अपील की गई है कि वो इंश्योरेंस पेपर अपने नियमित तारीख पर रिन्यु करा लें। काउंसिल ने कहा कि बीमा पॉलिसियों की निरंतर वैधता के लिए रिन्यु कराना बेहद जरूरी है।

अब गाड़ी की RC सम्बंधित सभी जानकारी पाएं!