fastag-india-implementation
Commercial vehicles NEWS Commercial Vehicle Insurance

फास्टैग को लेकर आई जरूरी खबर, नए साल से अनिवार्य होंगे फास्टैग लगवाना

भारतीय सड़क प्राधिकरण निगम ने फास्टैग को लेकर एक बड़ा फैसला किया है। एक निर्देश जारी करते हुए एनएचएआई ने अब चार पहिया वाहनों में फास्टैग को पूर्ण रूप से अनिवार्य कर दिया गया है। एनएचएआई का यह निर्देश दिसंबर 2017 से पहले खरीदे गए सभी चार पहिया वाहनों पर लागू होगा। सरकार की तरफ से इसकी डेडलाइन 1 जनवरी 2021 रखी गई है और इस तारीख तक सभी पुराने वाहनों में भी इसका लगा होना जरूरी है।

RTO ऑफिस से सम्बंधित सभी जानकारी पाने के लिए क्लिक करें!

इससे पहले 2017 में ही सभी नए चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग जरूरी कर दिया था।

नए वाहनों में पंजीकरण के समय ही फास्टैग लगवाना अनिवार्य कर दिया गया था। सरकार ने नए वाहनों में फास्टैग लगवाने की जिम्मेदारी डीलर्स और वाहन निर्माता कंपनी को दी थी, क्योंकि फास्टैग के बिना वाहन संबंधी किसी भी डॉक्यूमेंट्स का बनना संभव नहीं है। चाहे वो फिटनेस प्रमाणपत्र का नवीनीकरण हो या फिर ड्राईविंग लाइसेंस सबके लिए फास्टैग का होना जरूरी है। इसके अलावा राष्ट्रीय परमिट वाहनों के लिए 1 अक्टूबर 2019 से फास्टैग का होना अनिवार्य कर दिया गया है।

इंश्योरेंस के लिए भी अनिवार्य है फास्टैग…

अब फॉर्म-51 यानी बीमा प्रमाण पत्र में संशोधन के माध्यम से नया थर्ड पार्टी बीमा प्राप्त करते समय एक वैध फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है, जिसमें फास्टैग आईडी का विवरण जमा किया जाएगा। यह नियम अगले 1 अप्रैल से लागू होगा, पुराने चार पहिया वाहनों पर भी यह नियम लागू होगा।

सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है कि 100 फीसदी वाहनों पर फास्टैग लगा हो और बिना किसी बाधा के टोल प्लाजा पर भुगतान की प्रक्रिया की जा सके।

अब अपने ई-चालान की सभी जानकारी पाएं एक क्लिक से!